" भवानी दयानी महा वाकवाणी, सुर-नर-मुनि जनमानी सकल बुध ज्ञानी
जग जननी जग दानी महिषासुर मर्दिनी, ज्वालामुखी चण्डी अमर पददानी"
 

           

ज्योतिष सीखने में आमजन की आरंभ से ही बहुत रुचि रही है और यह रुचि हो भी क्यूँ न, ज्योतिष विषय है ही इतना आकर्षक, कि कोई भी इस विद्या की और खिंचा चला आता है । हमारे ज्योतिष विद्यालय में ज्योतिष की रेगुलर कक्षाएं बहुत पहले से ही लगाई जा रही हैं । परंतु दूर के शहरों के ज्योतिष रसिया जोकि ज्योतिष विद्यापीठ से ही ज्योतिष सीखना चाहते हैं, उनके लिए अम्बाला आ पाना काफी कठिन कार्य है । इस समस्या के समाधान हेतु हमने घर बैठे ही ज्योतिष सीखने की व्यवस्था कर दी है । अब अम्बाला से दूर के शहरों के लोग भी ज्योतिष विद्यापीठ से videos की सहायता से ज्योतिष सीख सकते हैं । 


यह videos बहुत ही सरल और लाभकारी हैं । इन videos की सहायता से बहुत से स्त्री - पुरुष ज्योतिष सीख चुके हैं । सभी ने इन videos की मुक्त कंठ से प्रशंसा की है । इन videos की प्रशंसा का मुख्य कारण हमारा ज्योतिष सिखाने का कई वर्षों का अनुभव है । 


हमारे पास ज्योतिष सिखाने के लिय तीन कोर्स हैं :-
1)  ज्योतिष प्रवेशिका कोर्स 
2) Basic Astrology Course
3) Advance Astrology Course 


ज्योतिष सीखने के लिय आपको सबसे पहले ज्योतिष प्रवेशिका कोर्स में एड्मिशन लेना होता है । उसके उपरांत ही अन्य courses में एड्मिशन मिलता है । यहाँ मात्र ज्योतिष प्रवेशिका कोर्स के विषय में जानकारी दी जा रही है । जब आप ज्योतिष प्रवेशिका कोर्स पूरा कर लेते हैं तब अन्य कोर्स के विषय में जानकारी दी जाती है और उसमें आपका एड्मिशन किया जाता है । ज्योतिष प्रवेशिका कोर्स में एड्मिशन के कुछ ही दिन उपरांत हम आपसे संपर्क करके अन्य कोर्स की जानकारी देते हैं । 

 

ज्योतिष प्रवेशिका  कोर्स :- 
यह कोर्स उन व्यक्तियों के लिय बनाया गया है जो ज्योतिष को बिल्कुल आरंभ से सीखना चाहते हैं । ज्योतिष प्रवेशिका कोर्स करने के उपरांत विद्यार्थी को हमारी ज्योतिष सिखाने की सरल विधि भी ज्ञात हो जाती है जिससे प्रभावित हो कर वह बड़े ही विश्वास के साथ Basic Astrology Course और Advance Astrology Course में एड्मिशन ले लेते हैं । 

कोर्स में एड्मिशन लेते ही आपको एक हेल्पलाइन नंबर भी मिल जाता है । 

ज्योतिष प्रवेशिका का syllabus :- 
-ज्योतिष विद्यापीठ और ज्योतिष अध्यापक श्रीमान अनुराग कौशिक के विषय में जानकारी । 
-ज्योतिष को क्यूँ माना जाए । 
-ज्योतिष को मानने का वैज्ञानिक आधार ।
-अन्तरिक्ष । 
-ग्रह । 
-राशि ।
-भाव । 
-जन्म कुण्डली ।
-जन्म राशि । 
-इत्यादि । 

Introduction Of "ज्योतिष प्रवेशिका कोर्स" :-

ज्योतिष प्रवेशका कोर्स 99/-


ज्योतिष प्रवेशिका कोर्स में एड्मिशन लेने के लिय बटन को स्पर्श करें ।


© Copyrights Jyotish Vidyapeeth All Rights Reserved